खेल मंत्री विजय गोयल बोले चाहते हैं की क्रिकेट भी बने खेल संहिता का हिस्सा

0
613
Pic Source : IANS

केंद्रीय खेल मंत्री विजय गोयल चाहते हैं कि बीसीसीआई को भी नई खेल संहिता का हिस्सा होना चाहिए जिसे जल्द ही पेश किया जायेगा | भारत में न्यायमूर्ति आर एम लोढा समिति के सुशासन संबंधित संवैधानिक बदलावों के बाद क्रिकेट की सबसे अमीर संस्था बदलाव के दौर से गुजर रही है | हालांकि अभी बीसीसीआई खेल संहिता के खिलाफ नहीं है और उन्हें कोई सरकारी अनुदान नहीं मिलता हैं |

बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना के साथ ही गोयल बैठे थे और उन्होंने कहा की, ‘‘यहां सवाल सिर्फ बीसीसीआई के बारे में नहीं है | मेरा मानना है कि सभी खेलों को खेल संहिता का हिस्सा होना चाहिए |’’

उन्होंने कहा की, ‘‘फिलहाल खेल संहिता सभी खेलों पर लागू होती है और महासंघों द्वारा इसका अनुकरण किया जा रहा है | जहां तक अंतिम संहिता का संबंध है तो मेरा मानना है कि जब तक रिपोर्ट तैयार होगी, हम इसे देश के समक्ष प्रस्तावित करेंगे |’’ हालांकि गोयल ने कहा हैं कि उन्हें बीसीसीआई को इसमें शामिल करने के विरोध करने के बारे में कोई जानकारी नहीं है |

हालांकि इस पर बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष खन्ना ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया और कहा किउचित समय पर इसके बारे में चर्चा की जायेगी | जब खेल संहिता पेश की जायेगी | कार्यकारी अध्यक्ष खन्ना ने कहा की, ‘‘आज, मैं किसी भी चीज के बारे में टिप्पणी नहीं करूंगा | मैं यहां सिर्फ उन्हें(गोयल) आईपीएल फाइनल के लिये आमंत्रित करने के लिये आया हूं | जब समय आयेगा, हम दूरियां दूर कर देंगे | इस समय इस तरह की कोई चर्चा नहीं हो रही है |”

LEAVE A REPLY