देर रात आईपीएल मैच पर बोले लोढ़ा

0
111
Pic Source : Gettyimages

मध्यरात्रि के करीब समाप्त होने वाले मैच ने इंडियन प्रीमियर लीग के कारणों को वास्तव में मदद नहीं की है | उनके पास क्रिकेटरों की ज़ोरदार प्रतिक्रिया हुई है, जो कि जीत के जश्न मनाने की निरर्थकता और अन्य लोगों के बारे में विरोध प्रदर्शन करते हैं जो आखिरी गेंद के बोल्ड होने तक स्टेडियम में ईमानदारी से रहते हैं |

बुधवार को बेंगलुरु में कोलकाता नाइट राइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेला गया एलिमेनेटर मैच बारिश से बाधित रहा | यह बारिश सनराइजर्स हैदराबाद की पारी के तुरंत खत्म होने के बाद शुरू हु | बारिश काफी देर तक चली और अंततः 8 बजे शुरू हुए मैच का परिणाम डकवर्थ लुईस नियम से रात को तकरीबन डेढ़ बजे निकला | चूंकि आईपीएल में प्लेऑफ मैचों के लिए रिजर्व डे नहीं होता है | यही कारण है कि मैच को इतनी देर रात को करवाया गया | लेकिन, अब कई दिग्गजों ने आईपीएल मैच को इतने रात तक करवाने को लेकर सवाल उठा दिए हैं | जिस पर कोलकाता के तेज गेंदबाज नाथन कूल्टर नाइल ने तो तल्ख टिप्पणी और कहा था की, “आप देर रात दो बजे क्रिकेट नहीं खेल सकते |

कोल्टर नील के विचारों को पूर्व मुख्य न्यायाधीश आर.एम. लोढ़ा ने स्वीकार किया और महसूस किया था कि करीब घंटों के खेल समाप्त होने वाले खेल में आईपीएल खराब रोशनी में दिखाया गया था |
बीसीसीआई के संविधान में सुधार और बदलावों की सिफारिश करने के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त समिति का नेतृत्व करने वाले लोढ़ा ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया से बात करते हुए कहा की, “यह एक खराब छाप छोड़ता है | कई लोग इस तरह के मैचों में खूंखार हैं | इस तरह के विलंब के बाद खिलाडी खेलने के लिए मन की उचित फ्रेम नहीं बना पते हैं, और साथ ही दर्शक भी थक जाते हैं |”

एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में बुधवार के एलीमिनेटर का जिक्र करते हुए लोढा ने सहमति व्यक्त करते हुए कहा की, “चार घंटों तक इंतजार करने के बाद केवल 6-7 ओवर खेल देखने में कोई मज़ा नहीं है | यहां पर कोई मनोरंजन नहीं है | यह एक सजा है आप विशेष रूप से आधी रात के दौरान केवल 3-4 घंटों तक एक बिंदु तक नहीं जा सकते हैं | ऐसी देरी दर्शकों को छोड़ने के लिए मजबूर करता है |”

लोढ़ा को पता होना चाहिए, क्योंकि उनकी समिति ने अपनी सिफारिशों में बार-बार कहा है कि दर्शकों के हितों – टिकट, स्टेडियम में बुनियादी सुविधाएं, ओम्बुड्समैन को अन्य लोगों के साथ उनकी शिकायतों का समाधान करने के लिए कैसे उपयोग किया जाता है | सभी समय पर क्रिकेट की रक्षा करनी होगी |

आईपीएल गवर्निंग काउंसिल के रेस नियम, रिजर्व दिवस और देरी पर गौर करने का निर्णय का स्वागत करते हुए, लोढ़ा ने कहा हैं की, “उचित नीति के दिशानिर्देशों को जगह में रखना चाहिए ताकि खेल को अनावश्यक रूप से लंबे समय तक नहीं मिल सके | हमें याद रखना होगा कि प्रेक्षक की रुचि सर्वोपरि है ये एक ही दर्शक हैं जो खेल को देखने के लिए स्टेडियम में लौटते हैं |”

LEAVE A REPLY